सोलन में उड़ी धारा 144 की धज्जियां, खड्डों पर पर्यटक सरेआम पी रहे शराब

Read Time:4 Minute, 23 Second

अश्विनी खड्ड में पर्यटक धारा-144 की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। पर्यटक अश्वनी खड्ड में बने प्राकृतिक झरने में नहा भी रहे तो सरेआम शराब भी पी रहे हैं। हैरानी की बात यह है कि प्रशासन उन्हें रोकने में नाकाम रहा है। धारा-144 लागू होने के बावजूद पर्यटकों का वहां पर जाना बदस्तूर जारी है। हालांकि साधु पुल में तो इसका असर देखने को मिल रहा है लेकिन अश्विनी खड्ड जहां पर जल शक्ति विभाग की शहर की पेयजल योजना है उसके पास के झरने के समीप पर्यटकों की गतिविधियां बढ़ गई हैं। हालत यह हो गई है कि पर्यटक  वहां पर मीट बना रहे हैं और शराब भी पी रहे हैं जबकि वहां पर इन गतिविधियों पर रोक लगी हुई है।

डीसी कृतिका कुल्हारी ने लिया था कड़ा संज्ञान

विदित रहे कि पिछले दिनों डीसी कृतिका कुल्हारी ने कंडाघाट उपमंडल के साधु पुल में अश्विनी खड्ड में पर्यटकों द्वारा फैलाई जा रही गंदगी का कड़ा संज्ञान लिया था। अश्विनी खड्ड एवं आसपास के क्षेत्र में धारा-144 लागू कर दी गई थी। इससे नदी के आसपास सभी अनधिकृत गतिविधियों पर तुरन्त प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया गया है। इन आदेशों के अनुसार नदी में खान-पान स्टाल, कियोस्क, ढाबा व होटल इत्यादि चलाने एवं स्थापित करने पर भी प्रतिबंध रहेगा। नदी के किनारों अथवा जल में किसी भी प्रकार का कचरा फैंकने पर सख्त मनाही है।

स्वास्थ्य के लिए घातक सिद्ध हो सकती हैं ऐसी गतिविधियां

आदेशों में स्पष्ट किया गया है कि सोलन शहर तथा आसपास के क्षेत्रों के लिए पेयजल का स्रोत अश्विनी खड्ड है तथा पिकनिक जैसी गतिविधियां आयोजित कर जल स्रोत को दूषित करने का प्रयास किया जा रहा है। इस प्रकार की गतिविधियां स्वास्थ्य के लिए घातक सिद्ध हो सकती हैं। नदी के जल स्तर में अचानक वृद्धि से ऐसी गतिविधियां जान-माल की बड़ी क्षति का कारण भी बन सकती हैं। आदेशों के उल्लंघन पर दोषियों के विरुद्ध विधिसम्मत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। ये आदेश तुरन्त प्रभाव से लागू हो गए हैं तथा आज से दो माह की अवधि तक प्रभावी रहेंगे। 

पंजाब केसरी ने प्रमुखता से उठाया था मामला

पंजाब केसरी ने साधु पुल में पर्यटन के नाम पर नदी को प्रदूषित कर रहे पर्यटक, प्रशासन मौन शीर्षक से मामले को प्रमुखता से उठाया था। इसके बाद प्रशासन ने नदी में धारा-144 लागू कर दी। अश्वनी खड्ड में अब पर्यटक नहा रहे हैं। हैरानी की बात यह है कि नदी को प्रदूषित कर रहे पर्यटकों को रोकने वाला कोई नहीं है। सबसे बड़ी बात यह है कि इस नदी से शहर को पानी की आपूर्ति होती है। इससे शहर की करीब 60 हजार की आबादी के स्वास्थ्य पर भी संकट छा गया है क्योंकि नदी के दूषित होने के कारण पानी भी दूषित हो रहा है।

धारा-144 का उल्लंघन करने वालों पर की जाएगी कार्रवाई : एसपी

एसपी सोलन अभिषेक यादव ने कहा कि अश्विनी खड्ड में धारा-144 का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। साधु पुल में इस प्रकार की गतिविधियों पर रोक लग गई है। यदि अश्विनी खड्ड में ऐसा हो रहा है तो कार्रवाई की जाएगी।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!