जिला भर में शिवरात्रि का पर्व विभिन्न छोटे व बड़े शिव मंदिरों में धूमधाम से मनाया गया। काठगढ़ मंदिर, बैजनाथ का शिव मंदिर, त्रिलोकपुर मंदिर, कांगड़ा वीरभद्र मंदिर, खनियारा के अघंजर महादेव मंदिर सहित अन्य शिव धामों में शिवरात्री पर्व की खूब धूम रही। वहीं, इसके विपरीत इस पर्व को नशा करके मनाने वाले भांग धतूरा का अधिक प्रयोग करने पर अस्पताल भी पहुंचे।भांग व धतूरा का अधिक प्रयोग करने से 12 लोग क्षेत्रीय चिकित्सालय धर्मशाला में उपचार के लिए पहुंचे। यही हाल टांडा मेडिकल कॉलेज अस्पताल का भी है। यहां भी आपातकालीन कक्ष में उपचार के लिए कई मामले आए हैं। क्षेत्रीय चिकित्सालय धर्मशाला में उपचार के लिए आये लोगों में से कुछ एक स्वास्थ्य लाभ के लिए टांडा रैफर किए गए हैं।

क्षेत्रीय चिकित्सालय में उपचार के लिए लाए गए लोगों में जिनको सांस कम होने की तकलीफ हो रही थी उन्हें ही टांडा रैफर किया गया है। जिसमें से कुछ एक को उपचार के बाद घर भेज दिया गया तो कुछ को ज्यादा समस्या होने पर दाखिल भी करना पड़ा।

error: Content is protected !!