हिमाचल विधानसभा का बजट सत्र का प्रश्नकाल आज शांतिपूर्ण ढंग से शुरू हुआ। पहला सवाल किन्नौर के विधायक जगत नेगी ने मुख्यमंत्री से पूछा जिसमें प्रदेश के घाटे में चल रहे निगमों बोर्डो का ब्यौरा मांगा व 31 जुलाई 2020 तक इनके चैयरमेन पर कितनी रकम खर्च की गई। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अनुपस्थिति में महेंद्र सिंह ठाकुर ने जवाब में बताया कि प्रदेश में 11 निगम व 01 बोर्ड घाटे में चल रहे है। हिमाचल पर्यटन निगम 5032.61 लाख, ऊर्जा निगम 36199 लाख, एससी एसटी निगम 2623.79, अल्पसंख्यक विकास निगम 619.14, एचपीएमसी 8509.59, ,वन विकास निगम 11042.24, एचआरटीसी 153370.47, वित्तीय निगम 15348.29, एग्रो इंडस्ट्री निगम 936.12, ऊर्जा संचार निगम 10836.88, हस्तशिल्प  निगम 1343.36 व राज्य विद्युत बोर्ड 152059.37 लाख के घाटे में चल रहे है।

गगरेट के विधायक राजेश ठाकुर ने पीडब्ल्यूडी मंन्त्री से नाबार्ड से स्वीकृत सड़कों का ब्यौरा मांगा। जबाब में महेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि 4 पूलों के निर्माण पर 3,38,85,290 करोड़ खर्च हुए। हमीरपुर के विधायक नरेंद्र ठाकुर ने पूछा कि हमीरपुर मेडिकल कॉलेज में एक्सरे सिटी स्कैन काम नही कर रहे। सरकार क्या इनको बदलने का विचार रखती है। इसी में अनुपूरक सवाल में आशा कुमारी, सुखविंदर सिंह सुक्खू व इंद्र दत्त लखनपाल ने पूछा कि इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। निजी संस्थानों में महंगे दामो पर करवाने पड़ते है। जबाब में स्वास्थ्य मंत्री डॉ राजीव सैजल ने बताया की जल्द ही खराब पड़ी मशीनों को ठीक करवाया जाएगा। 

बैजनाथ के विधायक मुल्क राज प्रेमी ने बैजनाथ के वृत को जोगिन्दरनगर करने का मामला उठाया व पूछा कि जिले के बाहर भी ठेकेदार टेंडर प्रक्रिया में भाग ले सकते है। सवाल के जबाब में बताया कि अब सी क्लास के ठेकेदार पूरे प्रदेश में जबकि डी क्लास ठेकेदार अपने जोन में काम कर सकते है। अगला प्रश्न चिंतपूर्णी के विधायक बलवीर सिंह ने पूछा कि अम्ब स्कूल के मैदान में इंडोर स्टेडियम बनाने का निर्णय लिया था जिसके मंदिर ट्रस्ट ने देना था। खेल मंत्री की गैरमौजूदगी में राजिंदर गर्ग में बताया कि इंडोर स्टेडियम 3,17,33,00 प्राकलन प्राप्त हुआ था। जिसको लौटा दिया गया। क्योंकि एस्टीमेट डेढ़ गुना अधिक बनाया गया। नैना देवी के विधायक राम लाल ठाकुर ने राजपुरा में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन निर्माण का मामला उठाया। जबाब में स्वास्थ्य मंत्री राजीव सैजल ने बताया कि 16 मार्च 2005 को राजपुरा स्वास्थ्य केंद्र के लिए 40,12,500 की स्वीकृति की गई। अब तक 62.61 लाख धनराशि लोक निर्माण में जमा करवाई गई है। एफसी अनुमति के आने के बाद ये काम पूरा कर लिया जाएगा। एक माह में इसका कार्य पूर्ण किया जाएगा। 

जयसिंहपुर के विधायक रविन्द्र कुमार ने लोक निर्माण मंत्री से कैलाशपुर पंचायत से गुजरने वाली बिनवा खड्ड में लंबित पड़े पुल के निर्माण कार्य का मामला उठाया और पूछा कि इसका कार्य कब तक पूर्ण किया जाएगा। मुख्यमंत्री की गैरमौजूदगी में महेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया इस पंचायत में पुल का काम 31 मार्च 2017 तक पूर्ण कर लिया गया है। लेकिन दोनों तरफ से इसको सड़क से जोड़ना बाकी है। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की अनुपस्थिति में जगत नेगी ने पूछा कि कुनिहार को औधोगिक क्षेत्र घोषित किया जाएगा। धानीराम शांडिल ने भी सवाल में अपने आप को शामिल करते हुए ममलीग औधोगिक क्षेत्र को आगे बढ़ाने की पैरवी की। जबाब में उद्योग मंत्री ने न में जबाब दिया। उन्होंने बताया कि 2004 में इस क्षेत्र को औधोगिक क्षेत्र घोषित किया गया था लेकिन विभिन्न खामियों के चलते कुनिहार औधोगिक क्षेत्र नही बन पाया। ममलीग औधोगिक क्षेत्र भी आगे नही बढ़ आया। यदि कोई उधोगपति आते है तो उनका स्वागत है।

चम्बा के विधायक पवन नैय्यर ने गृह विभाग से पूछा कि जिला में कितने गृह रक्षक तैनात है। चम्बा कॉलेज में कितनी महिलाएं व पुरुष गृह रक्षक अपनी सेवाएं दे रहे है। मुख्यमंत्री द्वारा अधिकृत महेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि चम्बा में गृह रक्षा आठवीं वाहिनी में 571 गृह रक्षक अभ्यविष्ट है। जिनमे से 410 गृह रक्षक चम्बा से बाहर सेवाएं दे रहे है। चम्बा मेडिकल कॉलेज में 16 गृह रक्षक तैनात है। नालागढ़ के विधायक लखविंदर राणा ने नालागढ़ में ट्रामा सेंटर बनाने के कार्य का मामला उठाया और कहा कि इस क्षेत्र में हादसे होते है जिनको पीजीएआई रैफर किया जाता है। नालागढ़ में 100 विस्तर का अस्पताल बनाने की घोषणा नड्डा ने की थी उसका क्या हुआ। जबाब में स्वास्थ्य मंत्री डॉ राजीव सैजल ने बताया कि नालागढ़ में ट्रामा सेंटर खोलने का मामला विचाराधीन है। जबकि नालागढ़ के मुख्य अस्पताल में 100 बैड का मामला भी विचारधीन है। नालागढ़ में 81 में से 75 पद भरे हुए है। इसी के साथ प्रश्नकाल समाप्त हो गया।

error: Content is protected !!