पटियाला में मनाई गई आर्किटेक्ट्स की 105वीं वर्षगांठ, राजिंदर सिंह संधू ने बताया इस दिन का महत्व

पटियाला। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ आर्किटेक्ट्स (IIA) की पटियाला यूनिट ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ आर्किटेक्ट्स की 105वीं वर्षगांठ को समर्पित एक कार्यक्रम का आयोजन किया। इस अवसर पर राजिंदर सिंह संधू ने इस दिन के महत्व के बारे में बताया और कहा कि भारतीय वास्तुकला संस्थान की स्थापना 1917 में मुंबई में हुई थी और अब इसके उप-केंद्र पूरे देश में हैं। इस कार्यक्रम में पटियाला के 20 से अधिक वास्तुकारों ने भाग लिया।

इस अवसर पर आयोजित आर्किटेक्ट्स की बैठक में आर्किटेक्ट राजिंदर सिंह संधू ने अब तक किए गए कार्यों की समीक्षा की और भविष्य में पेशे को और बेहतर बनाने के तरीकों पर भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि भविष्य की चुनौतियों का सामना करने और समय के साथ तालमेल बिठाने के लिए हर दिन नई चीजें सीखने की जरूरत है।
समारोह के दौरान इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ आर्किटेक्ट्स की पटियाला इकाई की संयुक्त सचिव श्रीमती इंदु अरोरेन ने अतिथियों का धन्यवाद किया. इस अवसर पर संगीता गोयल, राकेश अरोड़ा, डाॅ. मनीष शर्मा, एल.आर. गुप्ता, लोकेश गुप्ता और अमनदीप सिंह भी मौजूद थे।

SHARE THE NEWS:

Comments:

error: Content is protected !!